Ind vs nz 2nd t20: पिच पर फूटा हार्दिक पांड्या का गुस्सा, कहा यह pitch T20 क्रिकेट लायक नहीं

Ind vs nz 2nd t20 match

Ind vs nz 2nd t20 : भारत वर्सेस न्यूजीलैंड के बीच सीरीज का दूसरा T20 मैच लखनऊ के ग्राउंड पर खेला गया। इस मैच मे लखनऊ की पिच सवालों के घेरे में आ गई है।दूसरे T20 मैच में पिच पर गेंद काफी स्पिन हुई हुई इस बात को लेकर दोनों टीमों के कप्तान ने नाराजगी जताई है। इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि दोनों टीमों ने मैच में कुल मिलाकर 200 रन बनाए। बता दे की न्यूजीलैंड और इंडिया के बीच सीरीज 1-1 की बराबरी पर खड़ी है। :

हार्दिक पांड्या का पिच पर फूटा गुस्सा:

Hardik pandya statement on lucknow pitch : Ind vs nz 2nd t20 : दूसरे T20 मैच में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया। यह मैच लखनऊ की पिच को लेकर काफी चर्चा में है। इस मैच में गेंद काफी स्पिन हुई इस बात पर भारतीय टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या ने नाराजगी जताते हुए कहा है कि यहां पिच T20 क्रिकेट खेलने लायक ही नहीं थी। 100 रन के लक्ष्य को हासिल करने में ही भारतीय बल्लेबाजों के पसीने छूट गए। और मैच अंतिम ओवर तक जा पहुंचा। भारतीय टीम की तरफ से सूर्यकुमार यादव ने चौका लगाकर मैच को भारत की झोली में डाल दिया।

हार्दिक पांड्या का बयान:

भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा ईमानदारी से कहूं तो यह पिच शॉकिंग थी। अब तक हमने दो मैच खेले हैं। मुझे मुश्किल विकेटों से कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन यह दोनों विकेट T20 क्रिकेट के लिए बने ही नहीं है। पिच क्यूरेटर को यह बात समझने की जरूरत है कि यहां जीतने के लिए 120 रन ही काफी थे। यहां ओस की कोई भूमिका नहीं थी। क्योंकि न्यूजीलैंड स्पिनर हमसे ज्यादा स्पिन कराने में सक्षम थे यहां हैरान कर देने वाली पिच थी।

शुरुआती T20 में 177 रन के जवाब में 156 रन बनाने के बाद भी हार्दिक पांड्या ने रांची की पिच पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि पिच पर काफी टाइम था। अधिकतम ओवर स्पिनर्स ने किए और उन्हें सफलता भी मिली। वहीं भारत की गेंदबाजी कोच पारस ने कहा कि हमने पिच को देखा तो वह थोड़ी ड्राई थी। पिच के बीच में घास थी। लेकिन दोनों सिरों पर घास नहीं थी। पारस ने कहा कि हमें लगा कि इस पिच पर बल्लेबाजी आसान नहीं होगी। इस पर थोड़ा स्पिन होगा लेकिन हमें बिल्कुल अंदाजा नहीं था की बॉल इस कदर स्पिन करेगी उन्होंने कहा कि हम पिच क्यूरेटर से बात करेंगे कि वह अच्छी पिच बनाने में सक्षम क्यों नहीं थे।